पुलवामा हमले के बाद दिल्ली-लाहौर बस सेवा पर लगा ग्रहण


पुलवामा हमले का ग्रहण लाहौर बस सेवा पर भी लग गया है। शनिवार को पाकिस्तान से बस में सिर्फ एक पुरुष यात्री भारत आया। पुलवामाा में हुए आत्मघाती हमले के बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ा है। इसकी वजह से 14 फरवरी के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच चल रही सदा-ए-सरहद बस सेवा में यात्रियों की संख्या में तेजी से कम हुई है। यही स्थिति पाकिस्तान जाने वाले यात्रियाें की भी है।

बता दे कि दिल्ली से लाहौर के बीच 80 सीट वाली बस चलाई जाती है। इसमें सामान्य दिनों में 25 से लेकर 30 यात्री सफर करते हैं। कई बार सीटें फुल हो जाती है। बता दें कि बस में यात्रियों की सुरक्षा के लिए बस के आगे और पीछे एक-एक जिप्सी चलती थी, लेकिन अब सुरक्षा दो गुना बढ़ा दी गई है।

आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान बस सेवा ‘सदा-ए-सरहद’ रद्द करने की मांग को लेकर दक्षिणपंथी संगठनों ने प्रदर्शन किया। यूनाइटेड हिन्दू फ्रंट के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने मांग की है कि दिल्ली-लाहौर बस सेवा को तुरंत बंद कर देना चाहिए। शिव सेना (हिंदुस्तान) के अध्यक्ष मनीष सूद के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय राजमार्ग एक पर शुगर मिल चौक पर उस समय प्रदर्शन किया जब दिल्ली-लाहौर पाकिस्तान पर्यटन विकास निगम (पीटीडीसी) की बस इस मार्ग से गुजर रही थी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह ख़बरें पढ़ना ना भूलें!!