3 महीने की बेटी, चेहरा तक नहीं देख पाए पुलवामा में शहीद रोहिताश


पुलवामा में हुए आतंकी हमले में राजस्थान के रहने वाले जवान रोहिताश लांबा भी शहीद हो गए हैं. उनके घर पर मातम पसरा हुआ है. बताया जा रहा है कि करीब एक साल पहले ही रोहिताश शादी के बंधन में बंधे थे. तीन माह पहले ही उनकी पत्नी ने बच्ची को जन्म दिया था.
उनके एक करीबी दोस्त ने बताया कि बच्ची को देखने के लिए रोहिताश होली पर घर आने वाले थे, लेकिन इसके पहले ही पुलवामा में हुए आतंकी हमले में वो शहीद हो गए. उनकी शहादत की खबर सुनकर घर में ही नहीं बल्कि पूरे गांव में शोक का माहौल है.उसके दोस्त ने बताया कि घर पर सब अच्छा चल रहा था तभी श्रीनगर से आए एक फोन कॉल से रोहिताश के घर पर मातम पसर गया. फोन पर सीआरपीएफ के मेजर ने घर वालों को शहादत की खबर दी तो सुनकर सबके होश उड़ गए.
रोहिताश के भाई जीतेंद्र (जीतू) लांबा की तो तबीयत बिगड़ गई. आसपास के लोगों को गांव के बेटे की शहादत की खबर लगी तो सब इकठ्ठा हो गए.

पूरा गांव रात भर जागता रहा. गांव में अलग-अलग जगह लोग सामने बैठे रहे और रोहिताश की शहादत, उसकी बहादूरी की चर्चा करते रहे. गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार दोपहर जवानों पर हुए सबसे बड़ा आत्मघाती हमला हुआ. इस हमले में 37 जवान शहीद हो गए.
बताया जा रहा है कि 2500 जवानों का काफिला पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग से गुजर रहा था. इस बीच विस्फोटक से लदी कार बस में आ घुसी और 37 जवानों की मौत हो गई.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह ख़बरें पढ़ना ना भूलें!!